यूपी मुख्यमंत्री महिला सामर्थ्य योजना 2023: Mahila Samarthya UP रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन फॉर्म

“यूपी महिला सामर्थ्य योजना” का उद्घाटन किया गया है, जिसके तहत राज्य की महिलाओं को सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने का उद्देश्य है।

इस योजना के माध्यम से महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे और उनके जीवन स्तर में सुधार किया जाएगा। आवेदन करने के लिए “UP Mahila Samarthya Yojana” की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं और आवश्यक जानकारी दें। इस योजना के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। Read This:Shala Darpan Portal, Shala Darpan login, शाला दर्पण राजस्थान,rajshaladarpan.nic.in

UP Mahila Samarthya Yojana 2023

उत्तर प्रदेश सरकार ने महिलाओं के विकास और समृद्धि के लिए कई योजनाएँ शुरू की हैं। 22 फरवरी 2021 को, यूपी बजट 2021–22 के दौरान, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना जी ने “यूपी महिला सामर्थ्य योजना” का शुभारंभ किया।

इसका मुख्य उद्देश्य महिलाओं में कुपोषण समस्या का समाधान करना है। इस योजना के तहत, महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान किया जाएगा और उनके जीवन स्तर को बेहतर बनाने के लिए स्थानीय उद्योगों का समर्थन किया जाएगा।

इसके साथ ही, यह योजना महिलाओं को उनकी उपज को बेचने के लिए विभिन्न बाजारों के साथ जोड़ने का प्रस्ताव भी करती है, जिससे उन्हें और अधिक रोजगार के अवसर मिलेंगे।

वित्तीय वर्ष 2021-2022 में “यूपी महिला सामर्थ्य योजना 2023” की शुरुआत की गई है, जिसके लिए राज्य सरकार ने 200 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है। इसके लिए, एक दो स्तरीय समिति का गठन किया गया है, जिला स्तर पर एक समिति काम करेगी और दूसरी समिति राज्य स्तर पर काम करेगी।

योजना के अंतर्गत 72 करोड़ रुपए से अधिक के बजट का किया गया प्रावधान

उत्तर प्रदेश सरकार ने दूसरे कार्यालय के बजट को 26 मई 2023 को प्रस्तुत किया, जिसमें राज्य के वित्त मंत्री ने नागरिकों के लिए कई योजनाओं की घोषणा की। सरकार ने प्रदेश के सभी जनपदों में साइबर हेल्पडेस्क स्थापित करने का निर्णय लिया है।

साथ ही, उत्तर प्रदेश सरकार ने कई योजनाओं के बजट को वृद्धि करने का भी फैसला किया है। “यूपी महिला सामर्थ्य योजना 2023” के तहत, 72 करोड़ 50 लाख रुपए की आवंटन किया गया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य की महिलाओं के जीवन स्तर को बेहतर बनाना है, और उन्हें रोजगार प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

“यूपी महिला समृद्धि योजना” के माध्यम से, राज्य की महिलाएं होम और कॉटेज उद्योगों के सहायता से अपने जीवन स्तर को सुधारने का प्रयास करेंगी।

यूपी महिला सामर्थ्य योजना 2023 की आवश्यकता

यूपी सरकार ने महिलाओं के उत्थान के लक्ष्य से “यूपी महिला समृद्धि योजना” को शुरू किया है। इस योजना के माध्यम से राज्य की सभी महिलाओं का विकास किया जाएगा, जो सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों में काम करती हैं।

उत्तर प्रदेश में लगभग 90 लाख सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग कार्यान्वयन है, जिनमें से 80 लाख से अधिक सूक्ष्म इकाइयां हैं, जो घर और कुटीर उद्योगों के तहत काम करती हैं। “समर्थ्य योजना” के अंतर्गत, योगी सरकार ने महिलाओं द्वारा संचालित उद्यमों के विकास और उत्थान के लिए कदम उठाया है, जिससे प्रदेश की महिलाओं को रोजगार के प्रति प्रोत्साहित किया जा सकेगा।

इस योजना के तहत, महिलाओं के समर्थन के लिए सरकार द्वारा सुविधा केंद्र स्थापित किए जाएंगे, जहाँ महिलाओं को पैकेजिंग, लेबलिंग, बारकोडिंग जैसी कौशलों का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इन सुविधाओं के माध्यम से लाभान्वित महिलाएं रोजगार के लिए प्रेरित होंगी और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बन सकेंगी।

Overview of UP Samarthya Yojana

योजना का नामयूपी महिला सामर्थ्य योजना
वर्ष2023
आरंभ की गईवित्त मंत्री श्री सुरेश खन्ना जी के द्वारा
लाभार्थीराज्य की महिलायें
आवेदन की प्रक्रियाजल्द सूचित किया जायेगा
उद्देश्यमहिलाओं को रोजगार के लिए प्रोत्साहित करना
लाभरोजगार के अवसर
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट————

UP Mahila Samarthya Yojana का उद्देश्य

यूपी मुख्यमंत्री महिला सामर्थ्य योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश की महिलाओं को रोजगार के लिए प्रोत्साहित करना और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है। इस योजना के तहत, महिलाओं को सशक्तिकरण किया जाएगा और उनके जीवन स्तर में बेहतरी लाने के लिए घर और कुटीर उद्योगों का समर्थन प्रदान किया जाएगा।

राज्य सरकार इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण भी प्रदान करेगी, जिससे महिलाएं अपने उद्योग को सरलता से और बेहतर तरीके से संचालित कर सकेंगी। इसके साथ ही इस योजना का उद्देश्य घरेलू और कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देना है और साथ ही महिलाओं और बच्चों के कुपोषण समस्या का समाधान प्रदान करना है।

इसके अलावा, “समर्थ्य योजना” का उद्देश्य महिलाओं को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना भी है, जिससे वे अपने रोजमर्रा के आवश्यकताओं के लिए किसी पर निर्भर नहीं रहें और समाज में एक सम्मानजनक जीवन जी सकें।

यूपी महिला समृद्धि योजना का कार्यान्वयन 

राज्य सरकार द्वारा दो कमेटियाँ गठित की जाएंगी, जिनमें एक जिला स्तरीय समिति और एक राज्य स्तरीय समिति शामिल होगी। जिला स्तरीय समिति का अध्यक्ष जिला मजिस्ट्रेट होंगे, जो यूपी महिला सामर्थ्य योजना को अपने जिले में सफलता से प्रचालित करने का कार्य करेगी।

इस योजना के अंतर्गत, यह कमिटी महिलाओं को रोजगार के लिए जागरूक करने और प्रोत्साहित करने का कार्य करेगी। उत्तर प्रदेश सरकार के माध्यम से इस योजना के अंतर्गत राज्य में महिलाओं को रोजगार के प्रति बढ़ावा देने के लिए जागरूकता, परामर्श, कार्यक्रम, सेमिनार, कार्यशाला, और प्रशिक्षण आयोजित किए जाएंगे।

उत्तर प्रदेश सरकार ने महिलाओं की सभी सुविधाओं का ध्यान रखते हुए यूपी महिला सामर्थ्य योजना 2023 के अंतर्गत कई सुविधा केंद्र विकसित किए हैं।

इन सभी सुविधा केंद्रों में विभिन्न सुविधाएँ उपलब्ध कराई जाएंगी, जैसे – सामान्य उत्पादन और प्रसंस्करण, तकनीकी अनुसंधान और विकास, बारकोडिंग, लेबलिंग, पैकेजिंग प्रशिक्षण, और अन्य। इन सुविधा केंद्रों के 90% खर्च का सहायक भार सरकार द्वारा किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश में महिला समृद्धि योजना के माध्यम से प्रशिक्षण हेतु विभिन्न विकास खंडों में प्रशिक्षण केंद्र स्थापित किए जाएंगे। यहाँ, लगभग 90 लाख सूक्ष्म, लघु, और मध्यम उद्योग उत्तर प्रदेश की महिलाओं द्वारा संचालित हैं, और इन्हें सामान्य उत्पादन, प्रसंस्करण, तकनीकी अनुसंधान, और विकास, बारकोडिंग, लेबलिंग, पैकेजिंग प्रशिक्षण, आदि के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

यूपी महिला सामर्थ्य योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने UP Mahila Samarthya Yojana का आदान-प्रदान 22 फरवरी 2021 को किया है, जिसके माध्यम से प्रदेश की महिलाओं को सशक्त और आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण पहल की गई है। इस योजना के लिए राज्य सरकार ने 200 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है। इसका मुख्य उद्देश्य महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना और उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाना है।
  • इस योजना के तहत, स्थानीय संसाधनों के आधार पर घर और कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देने का प्रयास किया जाएगा। यह योजना महिलाओं को उनके क्षेत्र में रोजगार के लिए प्रोत्साहित करने का उद्देश्य रखती है और उन्हें उनके जीवन स्तर को सुधारने में मदद करने का काम करेगी।
  • इसके साथ ही, इस योजना के अंतर्गत घर और कुटीर उद्योगों को भी सुधारा जाएगा, जिससे महिलाएं अपने उद्योगों को और भी सफल बना सकेंगी। उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना के माध्यम से महिलाओं को रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी प्रदान की जाएगी, जिससे वे अपने आर्थिक जीवन को सुधार सकेंगी।
  • इस योजना के सुचारु कार्यान्वयन के लिए दो स्तरों पर कमेटियां गठित की जाएंगी, जिनमें जिला स्तरीय कमेटी और राज्य स्तरीय कमेटी शामिल होगी। इन कमेटियों का मुख्य कार्य महिलाओं को रोजगार हेतु जागरूक करना और प्रोत्साहित करना होगा।
  • उत्तर प्रदेश में इस योजना के पहले चरण में, सरकार द्वारा 200 विकास खंडों में सामान्य सुविधा केंद्रों की स्थापना भी की जाएगी, जो महिलाओं को विभिन्न कौशलों के प्रशिक्षण प्रदान करेंगे, जैसे कि सामान्य उत्पादन और प्रसंस्करण, तकनीकी अनुसंधान और विकास, बारकोडिंग, लेवलिंग, पैकेजिंग आदि।
  • इन सुविधा केंद्रों के लागत का 90% खर्च सरकार द्वारा वित्तपोषित किया जाएगा, जो महिलाओं को उनके उद्यमों को सफलता की दिशा में आगे बढ़ाने में मदद करेगा। इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश की महिलाओं और बच्चों के कुपोषण की समस्या का समाधान प्रदान करना भी है।
UP Mahila Samarthya

होम एवं कॉटेज उद्योगों में सुधार होगा

होम और कॉटेज उद्योगों की समस्या को मान्य करते हुए, यूपी महिला सामर्थ्य योजना, जिसे राज्य के 800 ब्लॉकों में कार्यान्वित किया जाएगा, उनके लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। पहले चरण में, 200 विकास खंडों में सामान्य महिला सुविधा केंद्र विकसित किए जाएंगे,

जो राज्य सरकार द्वारा प्रशिक्षण, सामान्य उत्पादन प्रसंस्करण, तकनीकी उपकरण विकास, और पैकेजिंग के लिए समर्थ बनाए जाएंगे। इस योजना के माध्यम से गृह और कुटीर उद्योगों में सुधार किया जाएगा और महिलाओं को विभिन्न रोजगार के अवसरों का भी समर्थन प्रदान किया जाएगा। Read This:नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2023: नई MGNREGA कार्ड सूची, NREGA Card डाउनलोड

महिला सामर्थ्य योजना के लिए पात्रता मानदंड

  • यूपी मुख्यमंत्री महिला सामर्थ्य योजना के तहत आवेदन करने हेतु योग्यता दर्ज करने के लिए, आवेदक को उत्तर प्रदेश राज्य का स्थायी निवासी होना आवश्यक होगा। इस योजना के तहत, केवल उत्तर प्रदेश राज्य की महिलाएं ही पात्र होंगी, जिन्हें इसके लाभ प्राप्त करने का अधिकार होगा।

    आवेदन करने के लिए निम्नलिखित आवश्यक दस्तावेज आपके पास होने चाहिए:

    1. आधार कार्ड
    2. आय प्रमाण पत्र
    3. जाति प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
    4. पासपोर्ट साइज फोटो
    5. मोबाइल नंबर

    इन दस्तावेजों की उपस्थिति आवेदन प्रक्रिया के दौरान आवश्यक होती है।

उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया

यूपी महिला समर्थ्य योजना के तहत आवेदन करने के इच्छुक सभी आवेदकों को धैर्य रखने की आवश्यकता है क्योंकि इस योजना की घोषणा सरकार ने बजट के दौरान की है। इस योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हुई है, लेकिन जैसे ही आवेदन की प्रक्रिया के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध होगी,

हम आपको उसकी पूरी जानकारी हमारे लेख के माध्यम से प्रदान करेंगे। अगर आपके पास इस योजना से संबंधित कोई कठिनाई या कोई प्रश्न है, तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हमारी टीम आपकी जल्द से जल्द सहायता करने की पूरी कोशिश करेगी।

Leave a Comment