(upagriculture.com) UP Agriculture किसान पंजीकरण | Token Generate - UP

(upagriculture.com) UP Agriculture किसान पंजीकरण | Token Generate

“UP Agriculture Kisan Registration List | upagriculture.com किसान पंजीकरण स्थिति, टोकन उत्पन्न – उत्तर प्रदेश सरकार ने विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करने के लिए यूपी कृषि किसान पंजीकरण को शुरू किया है। राज्य सरकार द्वारा UP Agriculture पंजीकरण पोर्टल के माध्यम से राज्य के किसान विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत आसानी से आवेदन कर सकते हैं। इसके साथ ही, यूपी एग्रीकल्चर के माध्यम से राज्य के नागरिकों को सहायता प्रदान की जाएगी। यदि आप उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई यूपी कृषि के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको हमारे इस लेख को पूरा पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस लेख के माध्यम से upagriculture.com पंजीकरण से संबंधित सभी जानकारी जैसे की उद्देश्य, लाभ, सुविधाएँ, पात्रता और आवेदन की प्रक्रिया को विस्तार से बताएंगे।” [कामधेनु डेयरी योजना राजस्थान 2023: Kamdhenu Dairy Yojana ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ ]

UP Agriculture Kisan Registration

“यूपी एग्रीकल्चर योजना राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई है, जिसके तहत पंजीकृत किसानों को सभी सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा। राज्य सरकार ने UP Agriculture Registration को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य यह बताया है कि राज्य के किसानों को यूपी एग्रीकल्चर के द्वारा सभी योजनाओं का लाभ प्राप्त हो। उन्हें सहायता मिलेगी और वे अपने जीवन को बेहतर बना सकेंगे। यदि आप उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई upagriculture.com के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और आवेदन करना होगा। क्योंकि राज्य सरकार द्वारा UP Agriculture के तहत लाभ उसको ही दिया जाएगा, जो पंजीकृत होगा। अधिक जानकारी के लिए आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

पोर्टल पर उपलब्ध नई सूचनायें

  • “लाभार्थी फ़ाइल जनरेट करने के लिए, कोषागार के नए फॉर्मेट पर डीडीओ लॉगिन में बोथ के विकल्प पर क्लिक करें और नए फॉर्मेट में लाभार्थी फ़ाइल का चयन करें। (ग्रीन टैब)”
  • “कोषागार के नए फॉर्मेट पर डीडीओ लॉगिन में लाभार्थी फ़ाइल जनरेट करने के लिए, बोथ के विकल्प पर क्लिक करें और नए फॉर्मेट में लाभार्थी फ़ाइल का चयन करें। (ब्लू टैब)”
  • “वे लोग चार जनपद शामली, श्रीवस्ती, हापुड़, संभल में कोषागार खाता रखते हैं और उनका खाता इलाहाबाद बैंक में है, उन्हें कोषागार के नए फॉर्मेट पर डीडीओ लॉगिन में लाभार्थी फ़ाइल जनरेट करने के लिए बोथ के विकल्प पर क्लिक करने और नए फॉर्मेट में लाभार्थी फ़ाइल का चयन करें।”
  • “यदि आपको कोई डीपीटी से जुड़ी कोई भी समस्या है, तो आप उसके समाधान हेतु डीपीटी पोर्टल पर सुझाव और शिकायत के विकल्प में कृषि विभाग के अधिकारियों के लिए एक लिंक उपलब्ध है, जिसका नाम है “ऑनलाइन समस्या निवारण प्रणाली”। इस लिंक पर आप अनुरोध भेज सकते हैं।”
  • “लॉगिन आईडी और पासवर्ड केवल उप कृषि निदेशक द्वारा उपलब्ध कराए जाएंगे। सीजीयू लॉगिन आईडी और पासवर्ड ही होगा।”

Overview of upagriculture.com Portal

नामयूपी एग्रीकल्चर किसान पंजीकरण
आरम्भ की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
वर्ष2023
लाभार्थीराज्य के किसान
पंजीकरण की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यविभिन्न योजनाओं का लाभ प्रदान करना
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttp://upagriculture.com/Default.aspx

यूपी एग्रीकल्चर का उद्देश्य

“हम जानते हैं कि पहले राज्य के नागरिकों को कृषि से संबंधित पूरी जानकारी प्राप्त करने और सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ते थे, जिसके द्वारा उन सभी नागरिकों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता था। इसके साथ ही उनका समय और पैसा भी बर्बाद होता था, जिसको देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने UP Agriculture Kisan Registration को आरम्भ किया है। राज्य सरकार द्वारा इस UP Agriculture Registration के माध्यम से किसानों को कृषि से संबंधित सभी जानकारी मिलेगी, जिसको वे सभी घर बैठे ही इंटरनेट के जरिए अपना रजिस्ट्रेशन करा कर देख सकते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने यूपी एग्रीकल्चर योजना को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य यह भी बताया है कि राज्य के किसानों को सहायता मिले।”

UP Agriculture किसान पंजीकरण पोर्टल के लाभ

“उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ की गई यूपी एग्रीकल्चर किसान पंजीकरण सुविधा के ऑनलाइन पोर्टल से प्राप्त होने वाले संबंधित लाभ निम्नलिखित रूप में हैं:”

    1. “उत्तर प्रदेश सरकार ने यूपी एग्रीकल्चर योजना को आरंभ किया है, जिसके ऑनलाइन पोर्टल पर प्रदेश के किसानों के लिए विभिन्न सेवाएं उपलब्ध हैं।”
    2. “इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के किसान स्वयं का पंजीकरण करवा सकते हैं और उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ की गई योजनाओं से लाभ उठा सकते हैं।”
    3. “उत्तर प्रदेश सरकार ने UP Agriculture Kisan Registration की शुरुआत की है, जिससे पंजीकृत किसानों का डेटा सुरक्षित रहेगा और उन्हें विभिन्न योजनाओं का लाभ मिलेगा।”
    4. “यूपी एग्रीकल्चर के ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकृत सभी पात्र किसानों को राज्य सरकार द्वारा डीबीटी की सहायता से योजना के लाभ के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।”
    5. “उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के इस ऑनलाइन पोर्टल की सहायता से प्रदेश के किसानों को सरकारी विभागों एवं कार्यालयों के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।”
    6. “इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से प्रदेश के किसान अब आसानी से यूपी एग्रीकल्चर किसान पंजीकरण से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी और सुविधाएँ घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं।”
    7. “उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ की गई इस पोर्टल के ऑनलाइन होने की वजह से प्रणाली में पारदर्शिता भी आएगी।

    upagriculture.com के तहत दी जाने वाली सुविधा

यदि आप उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई UP Agriculture Registration करके लाभ लेना चाहते है तो हमने आपकी सहायता के लिए इसके तहत मिलने वाली सुवधा नीचे प्रदान की है :-

1. किसान पंजीकरण सुविधा10. कहाँ किस को क्या लाभ मिला
2. लाभार्थियों की सूची11. कृषकों हेतु सुविधाएँ एवं अनुदान
3. किसान सहायता12. योजनाओं में लाभ वित्तरण
4. सूखा राहत की प्रगति13. किसने क्रेडिट कार्ड हेतु आवेदन
5. अन्य सूचनाएँ14. यंत्र पर अनुदान हेतु टोकन निकालें
6. पंजीकरण की रिपोर्ट15. प्रधनमंत्री कृषि सिंचाई योजना
7. अनुदान खाते में भेजने की प्रगति जाने16. पंजीकरण ग्राफ
8. अपना पंजीकरण नंबर जाने17. सफलता की कहानी
9. सुझाव एवं शिकायत18. विकास अजेंडा की प्रगति

यूपी एग्रीकल्चर के तहत किसानों को दिया जाने वाली सुविधाएँ एवं अनुदान

UP Agriculture Kisan Registration पोर्टल के तहत उत्तर प्रदेश के किसानों को प्रदान की जाने वाली सुविधओं के तहत अनुदान प्रदान किया जाता है-

  • जिंक सल्फेट के लिए 50% अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • 2-3 हार्सपावर के सोलरपम्प के लिए 70% और 5 हार्सपावर के सोलरपम्प के लिए 40% अनुदान दिया जाएगा।
  • अन्य क्षेत्रों के किसानों को 50% अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • कस्टम हायरिंग केंद्र के लिए 40% अनुदान दिया जाएगा।
  • गेहूँ बीज की चयनित प्रजातियों के लिए 2 रूपये से 14 रूपये प्रति किलो दिए जाएंगे।
  • बुंदेलखंड के किसानों के लिए तिल के बीज पर 90% अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • स्प्रिंकलर सेट खरीद के लिए 90% तक अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • कृषि रक्षा रसायनों के लिए 50% तक अनुदान दिया जाएगा।
  • माइक्रो न्यूट्रिएंट के लिए 50% अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • बखारी के लिए 50% अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • तेहलीन बीजों पर 33 से 40 रूपये/किलो और दलहनी बीजों के लिए 40 से 45 रूपये/किलो दिए जाएंगे।
  • संकर धान के लिए 130 रूपये प्रति किलो दिए जाएंगे।
  • कृषि यंत्रों/उपकरणों के लिए 20 से 50% अनुदान दिया जाएगा।
  • जिप्सम के लिए 75% अनुदान प्रदान किया जाएगा।

UP Agriculture Registration के तहत पात्रता

यदि आप upagriculture.com के तहत आवेदन करना चाहते हैं, तो निम्नलिखित स्टेप्स का पालन करें।”

  • “यूपी राज्य के स्थायी निवासी किसान ही यूपी एग्रीकल्चर योजना के लिए पंजीकरण कर सकते हैं। आवेदन केवल यूपी कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर ही स्वीकार किये जाते हैं और उसके बाद ही लाभ प्रदान किया जाता है। UP Agriculture Registration करने वाले किसान का बैंक खाता, मोबाइल और आधार से लिंक होना आवश्यक है।”

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • IFSC कोड
  • मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए
  • आधार से लिंक मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

UP Agriculture Kisan Registration करने की प्रक्रिया

यदि आपको UP Agriculture Kisan Registration के तहत लाभ लेना है तो आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा :-

  • “पहले यूपी एग्रीकल्चर कीपर वेबसाइट पर जाएं। वेबसाइट के होमपेज पर आपको ‘विकल्प’ पर क्लिक करना होगा, जिससे आपको एक नया पेज दिखाई देगा।
  • इस पेज पर आपको तीन विभागों की योजनाओं में पंजीकरण करें के विकल्प मिलेगा, जिसमें से आपको वह योजना चुननी होगी जिसमें आप आवेदन करना चाहते हैं।
  • योजना को चुनने के बाद, आपको योजना का पंजीकरण फॉर्म भरना होगा। फॉर्म में सभी पूछी गई जानकारी को भरें।
  • आपके सभी दस्तावेजों को अपलोड करने के बाद, ‘सबमिट’ बटन पर क्लिक करें।
  • आपका पंजीकरण प्रक्रिया पूरी हो जाएगा और आपका आवेदन स्वीकार किया जाएगा।”

यूपी एग्रीकल्चर योजना पर लॉगिन करने की प्रक्रिया 

“राज्य वासियों को जो यूपी एग्रीकल्चर योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉगिन करना चाहते हैं, उन्हें निम्नलिखित सरल प्रक्रिया का पालन करना चाहिए:”

  • “सबसे पहले, आपको यूपी एग्रीकल्चर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद, आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आएगा। होमपेज पर, आपको लॉगिन बॉक्स में पूछे गए आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी, जैसे: जनपद, यूजरनेम, और पासवर्ड। अब, आपको ‘लॉगिन’ विकल्प पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आप UP Agriculture Kisan Registration पोर्टल पर सफलतापूर्वक लॉगिन कर सकेंगे।”

यूपी एग्रीकल्चर योजना के अंतर्गत आवेदन स्थिति जाँचने की प्रक्रिया

  • “सबसे पहले, आपको यूपी एग्रीकल्चर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद, आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आएगा।
  • होमपेज पर, आपको “पंजीकरण की प्रगति” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा।
  • अब आपको इस नए पेज पर अपना किसान पंजीकरण संख्या दर्ज करने होंगे। इसके बाद आपको कैप्चा के विवरण को दिए गए कैप्चा बॉक्स में दर्ज कर देना होगा।
  • इसके बाद आपको सर्च के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आप UP Agriculture Kisan Registration पोर्टल पर अपने आवेदन की स्थिति की जाँच कर सकते हैं।”

लाभार्थियों की सूची देखने की प्रक्रिया

  • “सबसे पहले, आपको यूपी एग्रीकल्चर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद, आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आएगा।

    होमपेज पर, आपको “के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा।

    अब आपके सामने इस नए पेज पर मदवार, योजनावार, वर्षवार समग्र, सीजनवार, संस्थावार, सोलर की योजनाओं हेतु, उद्यान विभाग की योजनाओं हेतु, अन्य विभाग की योजनाओं हेतु आदि लाभार्थियों की सूचि प्रदर्शित हो कर आ जाएगी।

    इसके बाद आपको अपने विभाग के अंतर्गत वर्ष, समस्त मौसम, समस्त वितरण आदि के विवरण दर्ज कर देने होंगे। अब आपको “सूचि देखे” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आप लाभार्थियों की सूची देख सकते हैं।”

    यूपी एग्रीकल्चर के तहत अपने पंजीकरण संख्या जानने की प्रक्रिया
  • “सबसे पहले, आपको यूपी एग्रीकल्चर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद, आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलेगा।
  • होमपेज पर, आपको “” के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • अब आपको इस नए पेज पर पुनः “अपना पंजीकरण नंबर जाने” के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके स्क्रीन पर फिर से एक नया पेज प्रदर्शित होगा।
  • इस नए पेज पर आपको पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी, जैसे:- जनपद, ब्लॉक, कृषक, किसान आईडी, मोबाइल नंबर, खाता संख्या आदि के विवरण दर्ज कर देने होंगे।
  • अब आपको “सर्च” के विकल्प पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आप अपने किसान पंजीकरण की संख्या देख सकते हैं।”

upagriculture.com पर टोकन जेनरेट करने की प्रक्रिया

  • “सबसे पहले, आपको यूपी एग्रीकल्चर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद, आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलेगा।

    होमपेज पर, आपको “यंत्र हेतु टोकन” के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।

    इस नए पेज पर आपको यन्त्र हेतु टोकन की व्यवस्था देखने को मिलेगी। अब आपको इस पेज पर दिए गए “पंजीकरण संख्या” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।

    इसके बाद आपके स्क्रीन पर फिर से एक नया पेज प्रदर्शित होगा। इस नए पेज पर आपको पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी, जैसे:- जनपद, पंजीकरण संख्या आदि के विवरण दर्ज कर देने होंगे।

    अब आपको “सर्च” के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपको अपने इच्छानुसार किसी एक यंत्र के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।

    उसके बाद आपको “आगे बढ़े” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आप upagriculture.com पर टोकन जेनरेट कर सकते हैं।”

    UP Agriculture Kisan Registration पोर्टल पर नवीन अपडेट की सूची

    • पीएम कुसुम योजना के बैंक ड्राफ्ट डीडी लॉगिन के माध्यम से अपलोड करने की सुविधा
    • आईएनएसआइटीयू यंत्रों की नई व्यवस्था में अपलोडिंग की प्रगति रिपोर्ट
    • बिल मॉनिटरिंग सिस्टम – डायरेक्टरेट ऑफ़ एग्रीकल्चर
    • सोलर पंप के अलावा सभी कृषि यंत्रों के DBT की प्रगति
    • सोलर पंप लाभार्थी चयन सत्यापन प्रगति
    • किसान सहायता
    • सुझाव एवं शिकायतें
    • आईएफएससी कोड खोजने की सुविधा
    • यंत्रों की भौतिक लक्ष्य की चयन के सापेक्ष प्रगति रिपोर्ट
    • द मिलियन फार्मर्स स्कूल (किसान पाठशाला) प्रतिभागी कृषक सूची
    • मृदा स्वास्थ्य कार्ड अनुश्रवण तंत्र
    • प्रमोशन ऑफ एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन फार इन- सीटू मैनेजमेंट ऑफ क्राप रेसिड्यू योजना अन्तर्गत कृषि यंत्रों का विवरण
    • 35 कॉलम की लाभार्थीवार रिपोर्ट
    • डीबीटी के माध्यम से वितरित अनुदान के लाभार्थियों की विस्तृत सूची
    • फार्म मशीनरी बैंक के लिए समूह पंजीकरण की सूची
    • उद्यान ए़वं खाद्य प्रसंस्करण विभाग उत्तर प्रदेश की योजनाओं के लिए पंजीकरण
    • ग्राम स्तर पर स्थानीय उद्यमियों के द्वारा मृदा परीक्षण प्रयोगशाला की स्थापना हेतु आवेदन
    • सीआरएम इम्प्लीमेंट्स इम्पैनल्मेंट
    • बीजग्राम योजना सीड नेट रिपोर्ट

Helpline Number

“साथीयों, आज हमने अपनी वेबसाइट के माध्यम से UP Agriculture Kisan Registration के सभी जानकारी दी है। अगर आपको अभी भी किसी तरह की समस्या आ रही है, तो आप राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:”

  • 7235090578
  • 7235090583
  • ईमेल आईडी :- dbt.validation@gmail.com

Up Agriculture निष्कर्ष 

प्रिय पाठकों, इस लेख के माध्यम से हमने इस ऑनलाइन पोर्टल से संबंधित सभी जानकारी प्रस्तुत करने का प्रयास किया है। UP Agriculture पोर्टल का उद्देश्य, लाभ, पात्रता और आवेदन प्रक्रिया के बारे में सम्पूर्ण जानकारी इस लेख में दी गई है। यदि आप अभी भी इस पोर्टल के बारे में किसी भी जानकारी की तलाश में हैं, तो आप इस पोर्टल पर उपस्थित हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।

यूपी कृषि विभाग के सामान्य प्रश्नों का उत्तर:

  1. 1. UP Agriculture क्या है?यूपी कृषि एक सरकारी योजना है जो किसानों को विभिन्न कृषि सम्बंधित लाभ प्रदान करती है।
  2. 2. UP Agriculture की प्रमुख योजनाएं कौन-कौन सी हैं?कुछ प्रमुख योजनाएं शामिल हैं – कुसुम योजना, बुंदेलखंड मिश्रित बुआई वितरण, सौर पंप, कृषि यंत्र अनुदान, विभिन्न बीजों पर सब्सिडी आदि।
  3. 3. UP Agriculture के लाभ कौन-कौन से लोग प्राप्त कर सकते हैं?यूपी राज्य में निवास करने वाले सभी किसान इस योजना के लाभार्थी हो सकते हैं।
  4. 4. UP Agriculture में ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करें?योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद आप ऑनलाइन पंजीकृत हो सकते हैं।
  5. 5. अपने योजना के लिए आवेदन स्थिति कैसे चेक करें?आप योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपने आवेदन की स्थिति चेक कर सकते हैं।
  6. 6. यूपी कृषि के लिए हेल्पलाइन नंबर क्या है?यूपी कृषि के लिए हेल्पलाइन नंबर जानने के लिए योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  7. 7. योजना से संपर्क कैसे करें?योजना से संपर्क करने के लिए आप उनकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर संपर्क जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  8. 8. किसानों को योजना के लाभ के लिए कौन-कौन से दस्तावेज़ जरूरी हैं?आमतौर पर आवश्यक दस्तावेज़ में आधार कार्ड, बैंक खाता विवरण, खेत का विवरण, और योजना के अनुसार अन्य आवश्यक दस्तावेज़ शामिल हो सकते हैं।

यह उत्तर सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से हैं। सरकारी योजनाओं और नीतियों में बदलाव हो सकता है, इसलिए योजना की आधिकारिक वेबसाइट या संपर्क जानकारी का सहारा लें।

Leave a Comment