मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना 2023: ऑनलाइन पंजीकरण

“मरांग गोमके जयपाल सिंघ मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना – ऑनलाइन आवेदन, पात्रता जांच करें | झारखंड सरकार ने आदिवासी छात्रों के लिए एक नई योजना का आरंभ किया है। इस योजना के तहत, झारखंड सरकार राज्य के अनुसूचित जाति के प्रतिभाशी छात्र-छात्राओं को ऑक्सफोर्ड और कैम्ब्रिज जैसे विदेशी विश्वविद्यालयों में उच्च शिक्षा प्राप्त करने का एक अवसर प्रदान कर रही है। झारखंड राज्य भारत का वह राज्य है जो अपने लाभार्थियों के लिए इस तरह की नई योजना की शुरुआत कर रहा है। ‘मरांग गोमके जयपाल सिंघ मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना’ के तहत, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक और अन्य पिछड़े वर्ग कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जाति के 10 छात्र-छात्राओं का चयन किया जाएगा।”[सेवायोजन (sewayojan.up.nic.in) | उत्तर प्रदेश रोजगार मेला ऑनलाइन पंजीकरण | UP Rojgar Mela ]

“राज्य के आदिवासी नागरिकों को विदेशों में शिक्षा प्राप्त करने के लिए आर्थिक सहायता के लिए ‘मरांग गोमके जयपाल सिंघ मुंडा ट्रांसनेशनल स्कालरशिप स्कीम’ का आयोजन किया गया है। इस योजना के अंतर्गत, राज्य के आदिवासी कल्याण आयुक्त ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए नागरिकों को लाभ प्रदान करने के लिए पंजीकरण के लिए आमंत्रित किया है। जिन्हें इस योजना का लाभ उठाना है, उन्हें 30 मई तक अधिकारी की ईमेल आईडी के माध्यम से अपने आवेदन जमा करवाना होगा। इसके बाद, अधिकारियों द्वारा आपके पंजीकरण की जांच की जाएगी और फिर 10 योग्य अभ्यर्थियों का चयन किया जाएगा जिन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा। ये 10 प्रतिभाशी नागरिक जो ‘मरांग गोमके जयपाल सिंघ मुंडा ट्रांसनेशनल स्कालरशिप स्कीम’ के अंतर्गत चयनित होंगे, उन्हें विदेश में अपनी शिक्षा जारी रखने का अवसर मिलेगा। इसलिए दोस्तों, हम यहाँ ‘मरांग गोमके जयपाल सिंघ मुंडा ट्रांसनेशनल स्कालरशिप स्कीम’ के बारे में सभी जानकारी प्रदान कर रहे हैं। इसलिए कृपया हमारे लेख को ध्यान से पढ़ें।”

Overview of Marang Gomke Jaipal Singh Munda Transnational Scholarship Scheme

योजना का नाममरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा
वर्ष2023
लाभार्थीराज्य के लोग
पंजीकरण प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
लाभविदेशो में शिक्षा के अवसर
श्रेणीझारखड सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.jharkhand.gov.in/

मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना का उद्देश्य

“मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा, झारखंड राज्य के एक ऐसे आदिवासी थे जिन्होंने पहले इंग्लैंड में अपनी शिक्षा प्राप्त की थी। वे भारतीय हॉकी टीम के कप्तान भी रहे और भारत को ओलंपिक में स्वर्ण पदक दिलाने का गर्व महसूस किया था। उन्होंने खेल और शिक्षा के क्षेत्र में अपने योगदान के साथ-साथ राजनीति में भी योगदान किया है, और उन्होंने संविधान सभा के सदस्य भी रहे हैं और झारखंड आंदोलन की नींव रखी थी। अब उनके नाम पर एक नई योजना शुरू की जा रही है, जो नई पीढ़ी के आदिवासी नागरिकों को नई संभावनाओं का अवसर देगी। झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी की सरकार कह रही है कि गठन के बाद भी राज्य के नागरिकों को उनकी प्रतिभा को विकसित करने का अवसर देना आवश्यक है। यह उनके लिए महत्वपूर्ण है ताकि राज्य और देश के निर्माण में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का अवसर मिल सके।

मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

Marang Gomke Jaipal Singh Munda Transnational Scholarship Scheme का लाभ

  • “मरांग गोमके जयपाल सिंघ मुंडा ट्रांसनेशनल स्कालरशिप योजना के तहत हर वर्ष अनुसूचित जनजाति से चयनित 10 नागरिकों को यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड, कैंब्रिज जैसे विदेशी शैक्षणिक संस्थानों में 22 विभिन्न विषयों में स्नातक पढ़ाई करने का अवसर प्राप्त होगा। सरकार उन्हें आर्थिक सहायता भी प्रदान करेगी। इस योजना के अंतर्गत चयनित नागरिक विभिन्न विषयों में अग्रिम शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं जैसे मानव विज्ञान, जलवायु परिवर्तन, अर्थशास्त्र, विधि, मीडिया और संचार, कृषि, कला और संस्कृति, पर्यटन आदि में से किसी भी विषय में अग्रिम शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। यह योजना उन छात्रों के लिए उपयुक्त है जो अपनी अध्ययन क्षमता में अग्रणी हैं, लेकिन आगे की शिक्षा के लिए वित्तीय संबंधों की कमी के कारण असमर्थ हैं। सरकार इस योजना के तहत हर वर्ष 10 ऐसे नागरिकों का चयन करेगी जो विदेशों में शिक्षा प्राप्त करने का अवसर पाना चाहते हैं।”

झारखडं मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना 2023 पात्रता मानदंड

    • योजना के तहत मास्टर डिग्री या एम फिल डिग्री के लिए आवेदक को स्नातक की डिग्री में 55% या उससे अधिक अंक होने चाहिए। उसे अपेक्षित विषय में 2 वर्ष का शिक्षण कार्य भी होना चाहिए।
    • अनुभव रखने वाले आवेदकों को इस योजना के तहत प्राथमिकता दी जाएगी।
    • आवेदक की आयु 40 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। यदि उनकी आयु 40 वर्ष से अधिक है, तो उन्हें योजना के लिए पात्र नहीं माना जाएगा।
    • यह योजना केवल झारखंड राज्य के स्थायिय निवासियों के लिए है।
    • झारखंड मरांग गोमके जयपाल सिंघ मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक के पास अपनी जाति का प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।
    • आवेदक की वार्षिक पारिवारिक आय 1200000 या इससे कम होनी चाहिए। इससे अधिक आय वाले व्यक्ति को योजना के लिए पात्र नहीं माना जाएगा।
    • एक ही माता-पिता या अभिभावक के एक से अधिक बच्चे इस योजना के तहत पात्र नहीं होंगे।
    • इस योजना का लाभ किसी भी व्यक्ति को किसी विशेष पाठ्यक्रम के लिए मात्र एक बार ही दिया जाएगा।
    • भारत सरकार या राज्य सरकार के मंत्री के बच्चे इस योजना के तहत शामिल नहीं होंगे।

    आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • शैक्षणिक दस्तावेज
  • आय प्रमाण पत्र या आयकर रिटर्न की प्रति
  • जाति प्रमाण पत्र
  • अन्य आवश्यक दस्तावेज

मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना आवेदन प्रक्रिया

वे सभी इच्छुक उम्मीदवार जो इस योजना के अंतगर्त पंजीकरण करवाना चाहते हैं, नीचे दी गई आवेदन प्रक्रिया के द्वारा अपना आवेदन जमा करवा सकते हैं।

    1. आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं: सबसे पहले, झारखंड सरकार की वेलफेयर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
    2. स्कॉल करें: वेबसाइट के होम पेज पर मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति के लिंक पर क्लिक करें।
    3. योजना का विवरण: एक नया पेज खुलेगा जिसमें योजना के आवेदन के दिशा निर्देश और आवेदन पत्र एवं अन्य जरूरी दस्तावेजों की सभी जानकारी दी जाएगी।
    4. आवेदन पत्र डाउनलोड करें: उसके बाद, उपयुक्त आवेदन पत्र का फॉरमैट डाउनलोड करें और उसे भर दें।
    5. आवेदन स्कैन करें और सेव करें: अब, आपके भरे गए फॉर्म को स्कैन करें और उसे अपने सिस्टम में सेव करें।
    6. ईमेल आवश्यक करें: अपने ईमेल खाते में जाएं और न्यू मेल कंपोज करें। अब, एड्रेस में tw-com-jhr@nic.in डालें।
    7. आवेदन भेजें: सब्जेक्ट में “मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना के लिए आवेदन” लिखें और फिर अपने आवेदन पत्र की स्कैन कॉपी को अपलोड करें।
    8. ईमेल भेजें: अंत में, सेंड बटन दबाकर अपनी ईमेल भेज दें और इस प्रकार आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

      मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना – पूछे जाने वाले प्रश्न 

      1. 1. योजना क्या है?उत्तर: मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना झारखंड सरकार द्वारा शुरू की गई है जिसका उद्देश्य राज्य के आदिवासी छात्रों को विदेश में उच्च शिक्षा का अवसर प्रदान करना है।
      2. 2. छात्रवृत्ति की योजना किसे लाभ पहुँचाती है?उत्तर: यह योजना झारखंड राज्य के अनुसूचित जनजाति के छात्रों को लाभ पहुँचाती है, जो विदेश में अध्ययन करने के इच्छुक हैं।
      3. 3. छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कैसे करें?उत्तर: छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाना, आवश्यक दस्तावेजों को तैयार करना, और ऑनलाइन आवेदन पत्र भरकर जमा करना होगा।
      4. 4. छात्रवृत्ति के लिए योग्यता क्या है?उत्तर: आवेदक को स्नातक की डिग्री में 55% या इससे अधिक अंक होने चाहिए एवं संबंधित विषय में 2 वर्ष का शिक्षण कार्य वांछनीय होगा।
      5. 5. छात्रवृत्ति के लिए आयु सीमा क्या है?उत्तर: आवेदक की आयु 40 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
      6. 6. क्या केवल झारखंड राज्य के निवासी आवेदन कर सकते हैं?उत्तर: हाँ, इस योजना का लाभ केवल झारखंड राज्य के स्थायिय निवासियों को है।
      7. 7. क्या किसी परिवार में एक से अधिक छात्र छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर सकते हैं?उत्तर: नहीं, एक ही परिवार के एक से अधिक बच्चे इस योजना के तहत पात्र नहीं होंगे।
      8. 8. क्या यह योजना सरकारी अधिकारियों के बच्चों के लिए है?उत्तर: नहीं, भारत सरकार या राज्य सरकार के मंत्री के बच्चे इस योजना के तहत शामिल नहीं होंगे।
      9. 9. क्या छात्रवृत्ति राज्य स्तर पर ही दी जाएगी?उत्तर: नहीं, छात्रवृत्ति विश्वविद्यालयों में अध्ययन करने के लिए उपयुक्त विद्यार्थियों को विदेश भेजने के लिए है।

     

Leave a Comment